अगर आप भी कर रहे हो एंटीबायोटिक का इस्तमाल तो हो जी सावधान !

आज दुनियाभर में एंटीबायोटिक दवाईओ का चल बहोत ही ज्यादा बढ़ चूका है. लेकिन क्या आप जानते हो की यह दवाई हमारी बीमारी को जितनी जल्दी दूर करती है उतना ही हमारे शरीर को भी अपनी लपेट में लेती है. हर तरह की एंटीबायोटिक दवाई हमारे शरीर के लिए बेहद ही घातक साबित हो रही है.

आज के इस आर्टिकल में हम आपको एंटीबायोटिक दवाई के इस्तमाल से क्या होता है इसके बारे में जानकारी बताने जा रहे है.

एंटीबायोटिक दवाईओ का साइड इफेक्ट्स

1. जो लोग लंबे समय से एंटीबायोटिक दवाई का इस्तमाल करते आ रहे है उनके दिमाग पर बहोत ही गेहरा असर होता है और धीरे-धीरे दिमाग स्लो हो जाता है.

2. पेनिसिलिन नामक एंटीबायोटिक का सेवन करने से डायरिया, लाल चकते, पेट दर्द जसी समस्या खड़ी हो सकती है.

3. सेफालोस्पोरिंस नामक दवा का ज्यादा इस्तमाल करने से आपको उलटी या बुखार होता है.

4. इसके अलावा एमिनोग्लायको साईड्स जैसी दवा का इस्तमाल करने से बेहेरापन और किडनी से जुडी बीमारी हो सकती है.

5. ज्यादा मात्रा में एंटीबायोटिक का इस्तमाल आपको कभी-कभी विकलांग भी बना सकता है.

तो बीमारी से बचने के लिए क्या करना चाहिए?

1. एंटीबायोटिक लेनी चाहिए पर तब जब आपको डॉक्टर प्रीस्क्राइब करे.

2. जितना हो सके उतना आयुर्वेदिक उपचार करना चाहिए, क्यूंकि यह रास्ता बीमारी को पूरी तरह से खत्म करता है और शरीर को कोई भी तरह के साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते है, वही एंटीबायोटिक का सेवन करने से शरीर को तो नुकसान होता ही है साथ ही यह बीमारी को जद से खत्म भी नहीं करती.

3. यदि डॉक्टर ने आपको एंटीबायोटिक का कोर्स पूरा करने के लिए कहा है तो उनके बताए समय अनुसार ही दवाई लेकर कोर्स पूरा करे.

4. बीमारी खत्म होजाने के बाद कोर्स जरुर पूरा करे और यदि कोई भी दवाई बच जाती है तो उसके फैंक दे. यह सोचकर बची हुई दवाई को ना रखे की दूसरी बार बीमारी होने पर काम आएगी. क्यूंकि हर बार एक ही तरह की बीमारी नहीं आती.

5. बिना डॉक्टर की सलाह लिए डायरेक्ट मेडिकल स्टोर से दवाई मत ख़रीदे क्यूंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद घातक साबित हो सकता है.

यह भी पढ़े:-

  1. सुबह बिना ब्रस किए तुरंत पानी पिने से क्या होता है?
  2. नमक खाने से क्या होता है?
  3. क्या आपको पता है दिमाग के पास भी होता है Delete बटन ?
  4. एड्स बीमारी की शुरुआत कब और कहा से हुई थी?