Why Wild Animals number decreasing? - जाने वन्यजीवों के बारे में जिनकी प्रजातिया लगातार कम हो रही है

Animal extinction caused by humans in Hindi

जाने वन्यजीवों के बारे में जिनकी प्रजातिया लगातार कम हो रही है - Why Wild Animals number decreasing?

दोस्तों, हम इंसान इस धरती पर ऐसे रहते है की मानो यह धरती सिर्फ और सिर्फ कुदरत ने हम मनुष्यों के रहने के लिए ही बनाई हो. इस धरती पर ना हम इंसान ठीक तरह से जी रहे है और ना हम लोग मासूम पक्षी और प्राणियों को जीने देते है. यह सब अत्याचार देखकर सच में एसा लगता है की मानव को इस धरती पर भेजकर खुदा ने गलती करदी हो. इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए हमारा आर्टिकल इंसानों ने ये क्या किया? भयंकर प्राकुतिक आपदा पढ़े.

आज हम इस आर्टिकल में बात करने वाले है की हमारी वजह से प्रकृति और जानवरों को कितना नुकसान हुआ है, Why Wild Animals number decreasing?

जाने वन्यजीवों के बारे में जिनकी प्रजातिया लगातार कम हो रही है

हम इंसान इस धरती पर ऐसे अपनी मनमानी कर रहे है जैसे की यह धरती हम अकेले की ही है. अगर बात करे पिछले 4 दशक की तो इन दिनों में ही हमने जंगल को तहस महस करके रख दिया है. जिसके कारन कई सारे जंगली जानवर और पक्षी का नाश हो गया है. यह सब हमने सिर्फ 40 साल में ही कर दिया है, सोचों आने वाले 40 सालों में शायद ही कोई जानवर इस धरती पर जीवित देखने को मिलेगा. इंसानों के अत्याचार की एक और कहानी जानने के लिए आप हमारा आर्टिकल दुनिया के कुछ विलुप्त पक्षी को पढ़ सकते हो.

यह कोई मज़ाक का वक्त नहीं है बल्कि हम सभी को Serious हो कर इसके बारे में सोचना चाहिए वरना सच में इस धरती पर से इन जंगली जीवों की प्रजातियाँ खत्म हो जाएगी.

अगर बात करे सन 1970 से लेकर 2016 तक की तो इन 46 साल में हम इंसानों की वजह से करीब 68 प्रतिसद वन्यजीवों का खात्मा हो चूका है. International Nature and World Wildlife Agency की रिपोर्ट के अनुसार जितने जल्दी इन 4 दशक में वन्यजीवों का खात्मा हुआ है उतना कई लाखों सालों में भी नहीं हुआ था. 

दक्षिण अमेरिका और केरेबियन द्वीप में तो बहुत ही ख़राब हालत है. इन जगह पर पहले की तुलना मे के करीब 94 प्रतिसद वन्यजीव खत्म हो चुके है. इस तरह से यह जगह पूरी दुनिया में नंबर 1 पर है, जहाँ सबसे ज्यादा वन्यजीवों की प्रजातियाँ नष्ट हुई है. कुल मिलाकर अब तक एशिया में 24 प्रतिसद, अफ्रीका में 65 प्रतिसद, North अमेरिका में 33 प्रतिसद और Asia-Pacific में करीब 45 प्रतिसद Wildlife खत्म हो चुकी है.

इसी तरह हम विकास के पीछे दौड़ते रहे तो कुछ ही सालों में 10 लाख से भी ज्यादा जीवों की प्रजातियाँ खत्म हो जाएगी. और इन सबके लिए जिम्मेदार हम खुद ही होगें. हमारे कारन सिर्फ Wildlife को ही नुकसान नहीं पहुंचा है बल्कि प्रकृति को भी काफी नुकसान हुआ है. करीब 85 प्रतिसद मीठे पानी के Lake खत्म हो चुके है.

हम खुद को सोचना होगा की जब हमारी जान ही नहीं बचेगी तो फिर यह सारा विकास देखने के लिए कौन जीवित बचेगा. Please Save Jungle so Animals and Birds also can live.

दोस्तों, यदि आपको जाने वन्यजीवों के बारे में जिनकी प्रजातिया लगातार कम हो रही है - Why Wild Animals number decreasing? जानकारी अच्छी लगी है तो इसको शेयर जरुर करना. ऐसे ही दूसरे आर्टिकल को पढने के लिए हमारे इस ब्लॉग को आज ही Subscribe करे.

ऐसे और मजेदार आर्टिकल पढ़े:-

  1. क्या होगा अगर पृथ्वी के सारे पेड़ काट दीए जाए?
  2. क्या होगा अगर धरती की सारी बर्फ पिगल जाए?
  3. क्या सच में धरती अंत के करीब जा रही है.
  4. क्या होगा अगर ओक्सीजन 5 सेकंड के लिए गायब हो जाए
  5. क्या होगा अगर सूरज अचानक से गायब हो जाए
  6. क्या होगा अगर धरती का सारा कचरा ज्वालामुखी में डाल दिया जाए
  7. क्या होगा अगर बारिश एक ही विशालकाय बूंद में गिरे

No comments:

Powered by Blogger.