Hello Friends,
Amazing Stars of Universe | ब्रह्मांड के अद्भुत सितारे

हमारी दुनिया बहोत ही अद्भुत तथ्यों से भरी हुई हे इस तरह हमारे ब्रह्मांड में भी बहोत सारी एसी बाते छुपी हुई हे जिसे बहोत ही कम लोग जानते हे. तो आज में आपको इस पोस्ट के माध्यम से ब्रह्मांड के अद्भुत तारो के बारे में बता ने जा रहा हु. जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे गैलेक्सी  में 10,000 Billion से अधिक सितारे हैं। चलिएशुरू करते हैं

Amazing Stars of Universe,ब्रह्मांड के अद्भुत सितारे
Amazing Stars of Universe


















 ब्रह्मांड के अद्भुत सितारे

1. North Star (ध्रुव तारा): -
जैसा कि हम जानते हैं कि हमारे ब्रह्मांड के सभी तारे हर बार Po Pup करते हैं लेकिन केवल एक तारा Pop Up के बिना रहता है और वह है नार्थ स्टार। हम इसे Polaris Star के रूप में भी जानते हैं। Polaris तारा को ध्रुव तारा कहा जाता है क्योंकि यह पृथ्वी ग्रह का उत्तर पक्ष है। और यह तारा बहुत ही प्रकाशित है. यह सिर्फ एक तारा नहीं हे लेकिन एक नक्षत्र हे जिसके अन्दर ७ तारे हे. ध्रुव तारा १० हजार करोड़ पुराना हे और अब वो सुपर जायंट बनने की और आगे बढ़ रहा हे यानि की इसका कद और प्रकाश हर वक्त बढ़ रहा हे.

2. Neutron Star: -
न्यूट्रॉन स्टार एक विशालकाय तारा हे और इसकी खोज हमारे खगोल शास्त्री ओ ने सन २००६ में की थी । न्यूट्रॉन तारा पूरे ब्रह्मांड में बहुत तेज़ी से घूम रहा है और इसकी गति 716 / सेकंड या 43000 / RPM है।

3. Sirius Star: -
सिरियस एक  सफ़ेदतारा है जो रात के आकाश में सबसे चमकीला तारा है। सीरियस स्टार मूल रूप से मई के महीने में रात 8 बजे से रात 10. बजे के बीच दिखाया जाता है। यह सूरज से 2 गुना बड़ा है और इसका तापमान सूरज से 3200से अधिक है। सिरियस स्टार पृथ्वी से बहोत ही नजदीक यानि की सिर्फ 8.6 प्रकश वर्ष की दुरी पे हे. 

4.: - Achernar Star (नदीमुख तारा):-
यह तारे को भारत के प्राचीन खगोलशास्त्रीओने नदीमुख तारा नाम दिया था. नदीमुख नाम से प्रचलित यह तारा वैतरनि तारा मंडल में स्थित हे. ज्यादातर तारे गुरुत्वाकर्षण के कारन गोल होते हे लिकिन यह तारा अंडे के आकार का हे. 

5. Betelgeuse Star (आद्रा तारा) :-
आर्द्रा  कालपुरुष तारामंडल में स्थित एक लाल महादानव तारा है. यह उस तारामंडल का दूसरा सब से चमकीला तारा और पृथ्वी के आकाश में आठवाँ सब से चमकीला तारा है। आद्रा सूर्य से ४३० गुना बड़ा हे और पृथ्वी से लगभग ६४० प्रकाश-वर्ष दूर है लेकिन तेज़ी से हिल रहा है इसलिए यह दूरी समय के साथ-साथ बदलती रहती है। खगोलशास्त्री के मुताबिक यह तारा सन २६०० तक भयंकर विस्फोट के साथ सुपरनोवा बन जायेगा और जब भी वो फटेगा तब इसके २० किलोमीटर तक सब कुछ तबाह हो जायेगा.

6. LBV1806-20 स्टार: -

LBV 1806-20 सबसे चमकीला तारा है और इसे पिस्टल स्टार के रूप में भी जाना जाता है। यह सूर्य से लगभग 28000-49000 प्रकाश वर्ष की दूरी पर गैलेक्सी के केंद्र की ओर स्थित है। यह सूरज से 200 गुना बड़ा है और सूरज से ४ करोड़ गुना प्रकाशित है और आजतक गैलेक्सी में पिस्टल स्टार की तुलना में कोई भी तारा इतना प्रकाशित नहीं हे.

7. HE0107-5250 स्टार: -
वर्ष 2002 में इस तारे को पृथ्वी से 36000 प्रकाश वर्ष की दूरी पर पाया गया था. फिर इस पर रिसर्च सूरी की गई और इसके के बाद हमें HE0107-5250 के बारे में जानकारी मिली कि यह ब्रह्मांड का सबसे पुराना तारा है, यह 13 बिलियन वर्ष पुराना है और दूसरी तरफ हमारे ब्रह्मांड की आयु 13.799 बिलियन वर्ष है और इस तरह यह तारा हमारे ब्रह्मांड से ज्यादा छोटा भी नहीं हे. इस तरह यह ब्रह्मांड का सबसे पुराना तारा है.

अगर आपको ब्रह्मांड के अद्भुत सितारे पोस्ट के बारे में कोई सवाल हो तो आप मुझे COMMENT कर सकते हैं, अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया तो कृपया इसे हर जगह  SHARE करें और ऐसी ही रोचक पोस्ट और जानकारी पढ़ने के लिए मेरे ब्लॉग को SUBSCRIBE करें.

Thank you
बहुत बहुत धन्यवाद