शेरो से जुड़े आश्चर्यजनक तथ्य | Interesting facts and Information about Lion in Hindi

Information about Lion in Hindi | World Lion Day 2019 | जंगल के राजा शेर के बारे में रोचक तथ्य

दोस्तों, आज दुनिया भर में world Lion day मनाया जा रहा है. दुनिया भर में 10 August को विश्व शेर दिवस के रूप में मनाया जाता है क्यूंकि इसकी मदद से पुरे विश्व में शेरो के लिए जागरुकता फैलाई जा सकती है. हर साल शेरो की संख्या में भरी गिरावट नजर आती है इस वजह से विश्व भर में यह दिवस मनाया जाता है ताकि शेरो के शिकार पर रोक लगाई जा सके.



हम सभी ने जंगल के राज शेरो के बारे में जरुर पढ़ा और सुना होगा लेकिन आज के आर्टिकल में Amazing facts about Lion in Hindi द्वारा शेरो के बारे सठिक एवं Interesting facts बताने का प्रयास है. उम्मीद है आपको इस  World Lion Day 2019 पर Information about Lion in Hindi आर्टिकल जरुर पसंद आएगा.

World Lion Day क्यों मनाया जाता है
शेरो का इतिहास कई हजारो साल पुराना है. करीब 10 हजार साल पहेले पृथ्वी पर इन्सानों के बाद सबसे ज्यादा जीवित प्राणी की प्रजाति में शेरो का ही नाम आता था. लेकिन हमारे औद्योगीकरन की वजह से जंगल का विनाश होता गया जिसके साथ शेरो की संख्या में भी भरी मात्रा में गिरावट आती रही.

world Lion day का मुख्य मकसद यही है की दुनिया में शेरो के लिए जागरूकता फैलाई जाए. शेरो की संख्या खत्म होने के लिए इन्सान ही जिम्मेदार है और यदि हमने अपना नजरिया नहीं बदला तो एक समय एसा आएगा के पुरी दुनिया से शेर खत्म हो जाएगे.



जैसा की हम को पता है की शेर मांसाहारी प्राणी है लेकिन जंगल के विनाश के कारन दुसरे जिव भी खत्म होते गए जिसके कारन शेर भी भूख की वजह से दम तोड़ने लगे. साल 1940 में Lion की संख्या करीब 4,50,000 थी लेकिन आज पूरी दुनिया में 20 हजार से 35 हजार Lion ही जीवित है.  इसी वजह से दुनिया भर में शेरो की प्रजाति को जीवित रखने के लिए world Lion day की शुरआत की गई.

Information about Lion in Hindi | World Lion Day 2019 | जंगल के राजा शेर के बारे में रोचक तथ्य

शेरो का आकार
आज पूरी दुनिया में 2 तरह के शेर पाए जाते है. एशियाई शेर जो गुजरात के गिर अभ्यारण में है और दूसरा अफ्रीकाई शेर अफ्रीकी शेर की लम्बाई करीब 6 फीट तक होती है. वही उनका वजन करीब 120 से 190 तक का होता है.

बात करे एशियाई शेरो की तो उनकी लम्बाई अफ़्रीकी शेरो के मुताबिक ज्यादा होती है. भारतीय शेर का वजन करीब 120 से 226 तक का होता है.

नर शेर मादा शेर से ज्यादा बड़े होते है. उनके शिर के आसपास बालो का एक मुकुट होता है जो शेरो का मादा शेरो का दिल लुभाने के लिए काम आता है. इसी बाल की वजह से नर शेर को वहा पर कम चोंट आती है. हलाकि 2006 में वैज्ञानिको ने अफ़्रीकी शेरो के बालो पर अध्ययन किया था इस अध्ययन में वैज्ञानिको को लंबे बालो से शेर के चोट के बचने के पक्के साबुत नहीं मिले थे उसी लिए यही माना जाता है की लंबे बाल वाले शेर मादा शेर लो लुभाने के लिए ही होते है.


शेर क्यों दहाड़ते है
आपने अक्सर सुना होगा की शेर की दहाड़ बहोत ही भयंकर और डरावनी होती है लेकिन आखिर शेरो को दहाड़ने के जरुरत क्यों होती है? शेर बिल्ली की प्रजाति का दूसरा प्राणी है. बिल्लियों की कुछ प्रजाति दहाड़ सकती है. इनमे से शेर, बाघ और जैगुआर सामिल है.



माना जाता है की शेर बात करने के लिए दहाड़ते है. खास कर जब दुरी से संवाद करना हो तब. लेकिन शोध के बावजूद भी यह बात पता नहीं चल पाई है की शेर इतनी जोर से क्यों दहाड़ते है.

शेर कहा पाए जाते है
जैसा की हमने पहेले ही बात की की पूरी दुनिया में सिर्फ दो ही तरह के शेर है एक अफ़्रीकी शेर और दूसरा एशियाई शेर.

अफ़्रीकी शेर अंगोला, बोत्सवाना, मोजाम्बिक, तंजानिया, मध्य अफ़्रीकी गणराज्य, दक्षिण सूडान और उप सहारा अफ्रीका के अन्य क्षेत्रो में पाए जाते है. इन सभी क्षेत्रो में वे खुले घास के मैदान और जंगल में रहेना पसंद करते है.

एशियाई शेर केवल भारत के गुजरात राज्य के जूनागढ़ के सासणगिर में पाए जाते है. वहा पर वे गिर के जंगल में रहेते है. यह जंगल 1412 वर्ग किलोमीटर तक फैला हुआ है.

शेर भी गिनती कर सकते है
आपको जानकार हेरानी जरुर होगी की शेर भी गिनती कर सकते है. उनके पास गिनती करने की अदभुत क्षमता होती है. जब कोई शेर अपने नजदीक आते दुसरे शेर की दहाड़ सुनता है तो वो हमेशा अनजान शेर से पहेले मिलता है. अगर कोई शेर दो बार दहाड़ता है तो सामने की तरफ से मादा शेर 4 बार दहाड़ती है. और यह क्रमशः आगे बढता जाता है और अपने आसपास के जाने और अनजाने दोनों शेरो की गिनती को ध्यान में रखता है.
Information about Lion in Hindi | World Lion Day 2019 | जंगल के राजा शेर के बारे में रोचक तथ्य

शेर हमेशा झुण्ड में रहेते है
अपने एक बात अक्सर सुनी होगी की कुत्ते हमेशा झुंड में आते है और शेर अकेला ही आता है. लेकिन आपको जानकर हेरानी होगी की बिल्लीओ की प्रजाति में कवक शेर ही एसा प्राणी है जो हमेंशा झुंड में रहेना ही पसंद करता है. शेर हमेशा मादा शेर और बच्चो के साथ ही होता है.

शेर झुंड में क्यों रहेते है इसके पीछे की कुछ वजह है. पहेली बात तो यह है की मादा शेर शिकार करने की वजह से झुंड में रहेना पसंद करती है. हलाकि शेर के समूह में रहेंने से शिकार में कितना फायदा मिलता है इसके बारे में अभी भी कोई शोध नहीं हुई है. एक कारन और भी है की अपने इलाके को सुरक्षित रखने के लिए शेर झुंड में रहना पसंद करते है.



इसके लिए 2009 में अमेरिका के सेंट पोल में स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ़ मिनिसोटा के इकोलोजिस्ट ऐना मोसेर और क्रेग पैकर के 38 साल के अध्ययन के बाद पता चला की शेर अपने इलाके को सुरक्षित रखने के लिए झुंड में रहेते है. जितना बड़ा झुंड इतना बड़ा इलाका होता है.

शेरो की उत्पत्ति कब हुई थी
शेर इस धरती पर कई हजारो सालो से है. कहा जाता है के अफ्रीका में जब इन्सानों का विकास हुआ था तभी से शेर पाए जाते है. लेकिन शेरो के जीवाश्म की कमी के कारन इसका सही तरह से पता नहीं चल पाया है. सन 2014 में पहेली बार शेरो के बारे कुछ जानकारी हांसिल हुई थी.

डरहम यूनिवर्सिटी, ब्रिटेन के डॉ. रोस बारनेट ने दुनिया भर के म्यूजियम में रखे अलग-अलग प्रजाति के शेर के जीवाश्म का अधययन किया और पता लगाया की आधुनिक शेरों के पूर्वज करीब 1,24,000 साल पुराना है.

शेरो का व्यवहार
शेर बहुत ही सामाजिक होते है और झुंड में रहेना पसंद करते है. नेशनल ज्योग्राफिक के अनुसार अफ्रीकाई शेर अपने बच्चे सहित कई सारी मादा शेर के साथ रहेते है वही भारतीय शेर नर और मादा के अलग-अलग समूह में रहेते है और संभोग के समय ही एक दुसरे के करीब आते है.

मादा शेर सारी उम्र उसी झुन में रहेना पसंद करती है जहा पर वो पैदा हुई थी वही नर शेर जब बुढा हो जाता है तब अपने लिए दूसरा झुंड तलास करता है और फिर दुसरे समूह में ही रहेता है.

शेरों का परिवार
जब शेर की उम्र 3 साल से ज्यादा हो जाती है तब नर और मादा शेरनी संभोग के लिए तैयार हो जाते है. मादा शेरो की गर्भावस्था लगभग 4 महीने की होती है और शेरनी अकेले में ही अपने बच्चो को जन्म देती है.


जन्म के वक्त शेर के बच्चे का वजन करीब 1.5 किलो का होता है. 4 से 5 हपते तक बच्चे को मा के ऊपर ही निर्भर रहेना पड़ता है. बच्चे की देखभाल पूरा झुंड मिलकर करता है. जब भी बच्चे की मा अपने बच्चे से दूर गई होती है तब झुंड की दूसरी मादा उस बच्चे का ध्यान रखती है.


शेरों के बारे में रोचक तथ्य | Interesting facts about Lion

1. बिल्लियों की प्रजाति में सिर्फ शेर की दहाड़ ही करीब ही 8 किलोमीटर तक सुनाई देती है. जबकि बाघ की दहाड 3 किलोमीटर तक सुनाई देती है.

2. ज्यादातर किस्से में शिकार करने की जिम्मेदारी शेरनी पर ही होती है वही परिवार की रक्षा करने का काम शेर का होता है.

3. शेर 50 किलो प्रति घंटे की रफ़्तार से भाग सकते है लेकिन कभी कभी 80 किलोमीटर तक की भी गति हांसिल कर लेते है लेकिन कुछ ही देर में थक भी जाते है.

4. आपको जानकर हेरानी होगी की एक 12 वर्षीय इथियोपियाई लड़की को 4 लोगो द्वरा अगवा कर लिया गया था लेकिन एक सप्ताह बाद उसी समूह को तिन शेर ने मिलकर भगा दिया और लड़की के साथ लड़की को बिना नुकसान पहुंचाए तब तक खड़े रहे जब तक उस इलाके की पुलिस उस लड़की को खोजते हुए नहीं आगई.

5. केवल 8 में 1 ही नर शेर जीवित रहेता है. अधिकांश शेर लगभग 2 ही साल में अपने झुंड से बहार निकाल दिए जाने के तुरंत बाद ही मार जाते है.

6. शेर रोजाना 18 पौंड यानिकी 8 किलो मांस खाता है.

7. अफ़्रीकी शेर बड़े जानवरों को खाना पसंद करते है जीने जिब्रा, हिरन और कई सारे अजीब तरह के प्राणी सामिल है.

8. जंगली शेर भोजन करने के बाद करीब 20 घन्टे तक सोना पंसद करता है.

9. शेर बिल्लियों की प्रजाति का ही जानवर होने के कारन रात को बेहतर तरीके से देख सकते है और ज्यादातर नर शेर रात को ही घूमना और शिकार करना पसंद करते है.


10. आपको जानकर हेरानी होगी की बाघ और शेर के बिच में होने वाली लड़ाई में ज्यादातर बाघ ही जीतते है, इसके पीछे की वजह यह भी हो सकती है की बाघ शेर के मुकाबले बड़े और ज्यादा भारी होते है. बाघ का वजन करीब 300 किलो तक होता है.

11. शेर को जंगल का राजा कहा जाता है लेकिन शेर ज्यादातर खुल्ले और घास के मैदान में रहेना पसंद करता है.

12. शेर अल्बानिया, बेल्जियम, बुलगारिया, इथोपिया, नैदरलैंड जैसे देशो का राष्ट्रिय प्राणी है. सन 1972 से पहले शेर भारत का भी राष्ट्रिय प्राणी था लेकिन बाद में बाघ को राष्ट्रिय प्राणी घोषित कर दिया गया.

13. दुनिया में सबसे ज्यादा शेर अफ्रीका में है इसके बाद एशिया में पाए जाते है. सन 2015 की गिनती के मुताबिक गिर में करीब 523 शेर मोजूद है.

14. मादा शेर उन्ही शेर के साथ सहवास करना पसंद करती है जिनके शेर पर लम्बे और गहेरे बाल हो.

15. शेर 36 फीट तक छलांग लगा सकता है.

16. अगर एक शेरनी तेंदुए के साथ मिलन करती है तो उनके आने वाले बच्चे को लियोपान कहा जाता है. उनका शिर तो शेर की तरह ही दीखता है लेकिन शरीर तेंदुए की तरह दीखता है.

17. एक शेरनी और जैगुआर के मिलन से जो बच्चे पैदा होते है उनको जेगलीओन कहा जाता है.

18. शेर अपना मुंह 1 फीट तक खोल सकता है जो एक इन्सानी सिर से भी ज्यादा बड़ा होता है.

19. शेर में एक अजीब रिवाज है. जब शेरनी शिकार करती है तो सबसे पहेले नर शेर अपना पेट भरता है इसके बाद भी शेरनी उस शिकार को खाती है और इसके बाद बच्चे खाते है. हैंना बहोत ही दिलचस्ब बात.

20. पूरी दुनिया में शेरो की संख्या से ज्यादा उनकी तस्वीर मोजूद है.

यह भी पढ़े:-


  1. दुनिया के सबसे बड़े जानवर
  2. दुनियां का सबसे बड़ा मगमच्छ जो डायनासोर को भी खाते थे
  3. डायनासोर का अंत कैसे हुआ
  4. तस्मानिया टाइगर के बारे में जानकारी
  5. जिराफ की गर्दन लम्बी क्यों होती है
  6. दुनिया के सबसे खतरनाक कुत्ते