Amazing Facts about Goa in Hindi - गोवा के बारे में रोचक तथ्य

गोवा भारत का क्षेत्रफल के हिसाब से सबसे छोटा राज्य है. गोवा का beach पूरी दुनियाभर में फैमस है, इसीलिए हर साल यहाँ पर लाखो की तादाब में विदेशी लोग घुमने आते है. दिसम्बर और जनवरी के महीने में यहाँ का पूरा beach फोरेनर लोगो से भरा हुआ होता है मानो की आप विदेश में आ गए हो.

गोवा बहोत ही खुबसूरत राज्य है पर क्या आप जानते हो की यह खुबसूरत राज्य भारत की आजादी के बाद भी पुर्तगालीओ का गुलाम था. इस राज्य पर पुर्तगालीओ ने 451 सालो तक राज्य किया था और भारत की आजादी के बाद भी इस राज्य को छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे? तो फिर गोवा भारत का हिस्सा कैसे बना? भारत की आजादी के कितने साल बाद गोवा आजाद हुआ? इन सभी प्रश्नों के उत्तर आपको इस आर्टिकल में मिलने वाले है और साथ ही इस आर्टिकल में हम आपको गोवा के बारे में कुछ रोचक और मजेदार तथ्य भी बताने वाले है.

Amazing Facts about Goa in Hindi - गोवा के बारे में रोचक तथ्य

गोवा का इतिहास
गोवा एक बहोत ही खुबसूरत स्थान था जिसके कारन यह हमेशा से सभी लोगो का आकर्षण रहा था. अंग्रेजो को भी गोवा बहोत ही पसंद था और वो किसी भी कीमत पर इसको अपने अधीन करना चाहते थे. इसके अलावा मुग़ल के राजाओ भी इसको अपने अधीन रखना चाहते थे. सन 1350 में गोवा बहमानी सल्तनत के अधीन चला गया लेकिन सन 1370 में फिर से विजयनगर साम्राज्य ने इस पर अधिकार प्राप्त कर लिया. इसके बाद सन 1469 में एक बार फिर से बहमनी सल्तनत ने गोवा पर अपना अधिकार जमा दिया.

लेकिन उनकी यह खुशी बहोत ज्यादा सालो तक नहीं टिकी और सन 1510 में पुर्तगालियो ने गोवा पर अपना अधिकार स्थापित कर लिया और 19 दिसम्बर 1961 तक यानि की 451 सालो तक यहाँ पर राज किया. उन्होंने भारत के आजाद होने के बाद भी करीब साढ़े चोदा सालो तक गोवा को अपने अधीन ही रखा.

गोवा भारत का हिस्सा कैसे बना?
यह बात भारत के लिए बेहद ही शर्मनाक थी की भारत देश आजाद हो गया था लेकिन फिर भी भारत के एक छोटासा राज्य अब भी पुर्तगालियो के अधीन था. वो लोग इसको छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे. लेकिन गोवा के वासिओ को आजाद भारत में सास लेना था. गोवा को आजाद कराने में दो लोगो का सबसे ज्यादा योगदान था. डॉक्टर राम मनोहर लोहिया और सरदार वल्लभ भाई पटेल.

जब भारत आजाद हुआ तब भारत के प्रधानमंत्री जवाहरलाल नहेरु को बनाया गया था. वो समजते थे की भारत को गोवा से आजाद करवाना बहोत ही आसान है लेकिन वो युध्द से डरते थे. दूसरी तरफ गांधीजी चाहते थे की सत्याग्रह से गोवा की आजादी की मांग की जाए.

जब सन 1946 में बीमार डॉक्टर राम मनोहर लोहिया गोवा आए थे तब उन्होंने देखा की पुर्तगालियो की सरकार तो ब्रिटिशो से भी गई गुजरी है और नागरिको पर बहोत ही अत्याचार करती है. तभी उन्होंने गोवा में आराम न करते हुए 200 लोगो की एक सभा बुलाई. क्यूंकि गोवा में किसी भी नागरिक को सभा संबोधने का अधिकार नहीं था इसी लिए डॉक्टर राम मनोहर लोहिया को 2 साल तक कैद कर लिया गया लेकिन बाद में जनता के आक्रोश के कारन उनको छोड़ दिया और 5 साल तक गोवा आने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया.

सन 1954 में एक बार फिर से डॉक्टर राम मनोहर लोहिया ने गोवा को आजाद करने के लिए आन्दोलन चलाया था, वही सरदार पटेल ने भी आक्रोश में आगे आकर कहा था की गोवा में किसी भी विदेशी सरकार का कोई काम नहीं है. बाद में भारत सरकार ने गोवा पर किसी भी खाने-पिने की चीजे भेजने से मना कर दिया लेकिन पुर्तगालीओ ने नीदरलैंड से आलू, पुर्तगाल से शराब और श्रीलंका से चाय की आयात करना शुरू कर दिया.

सन 1955 में सत्याग्रह के दौरान पुर्तगालीओ ने गोवा में 22 लोगो को मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद सरदार वल्लभभाई पटेल और अन्य नेताओ ने मिलकर पंडित जवाहरलाल नहेरु को युद्ध करने के लिए मनाया. 19 दिसम्बर 1961 को विजय नामक सैन्य मिशन चलाया गया जिसमे सिर्फ 36 घंटो के भीतर ही भारतीय सैनिको ने पुर्तगालियो को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया और पुर्तगाल के गवर्नर जनरल वसालो इ सिल्वा ने भारतीय सेना प्रमुख पीएन थापर के सामने सरंडर कर दिया. इस तरह गोवा एक आजाद राज्य घोषित हुआ और सन 1987 में गोवा को भारत का राज्य घोषित किया गया.

गोवा के बारे में रोचक तथ्य
1. गोवा का क्षेत्रफल करीब 3702 वर्गकिलोमीटर है और राजधानी पणजी है.

2. गोवा में करीब 40 समुद्री beach है उनमेसे 2 समुद्री तट तो एसे है जहा पर भारतीय नहीं जा सकते है.

3. गोवा का दूधसागर झरना भारत के सबसे ऊंचाई से गिरने वाले झरनों में से एक है. इस झरने की ऊंचाई करीब 310 मीटर है.

4. गोवा की आय का मुख्य स्त्रोत पर्यटक ही है. यहाँ पर काफी मात्रा में विदेशी लोग घुमने आते है.

5. गोवा के उत्तर में तेरेखोल नदी बहेती है जो गोवा को महाराष्ट्र से अलग करती है.

6. गोवा का सबसे ऊँचा शिखर सोनसोगर है जिसकी ऊंचाई करीब 1166 मीटर है.

7. मंडपों, दुलपोद, ढालो, डेकनी, कुम्बी, फादो, और फुगडी यहाँ का प्रशिद्ध लोकनृत्य है.

8. शिमगो नामक उत्सव यहाँ पर काफी प्रचलित है जिनमे वहां के नृत्यक बिना थके लगादार नृत्य करते है.

9. जीडीपी प्रति व्यक्ति के आधार पर गोवा भारत का सबसे अमीर राज्य है.

10. भारत की प्रशिद्ध संगीतकार लता मंगेशकर के पिता का जन्म गोवा में ही हुआ था.

दोस्तों, उम्मीद है आपको गोवा भारत का हिस्सा कैसे बना? जाने गोवा का इतिहास और मजेदार तथ्य - Goa Facts and History in Hindi आर्टिकल अच्छा लगा होगा. कृपया इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

हमारे अन्य रोचक आर्टिकल भी पढ़े:

  1. लक्षद्वीप भारत का सबसे छोटा केंद्र शासित प्रदेश
  2. मेघालय के बारे में जानकारी और रोचक तथ्य
  3. भारत का रहस्यमई राज्य अंडमान-निकोबार
  4. भारत के अनोखे राज्य तेलंगाना के बारे में दिलचस्ब तथ्य