Amazing Information about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक्त तथ्य और जानकारी

हमारे भारत देश में कई तरह के प्राकुतिक स्थान उपलभ्द है जिनमे से कोई जगह पहाड़ी इलाको के लिए जानि जाती है तो कोई जगह बारिश के लिए जानी जाती है, वही कुछ जगह एसी है जहाँ जाकर आपको स्वर्ग की शांति का अनुभव होता है. मेघालय भी भारत का एक एसा ही स्थान है जो भारत के पूर्व में स्थित है जिसको बादलो को घर और मिनी स्कॉटलैंड भी कहा जाता है.

तो आज इस आर्टिकल में हम भारत के इस खुबसूरत राज्य के बारे कुछ रोचक जानकारी बताने वाले है.
 Interesting facts about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक्त तथ्य और जानकारी

Interesting facts about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक्त तथ्य और जानकारी

1. मेघालय भारत का एक बहोत ही खुबसूरत राज्य है जो पूरी तरह से प्राकृतिक नजारों से भरा हुआ है. जिसमे सुंदर पर्वतमालाए, भारी बारिश, लुभावने और मनमोहक झरने, नदिया और घास के बने मैदान सामिल है जिसको देखने के लिए हर साल दुनिया में सभी जगह से लोग आते है.

2. मेघालय की राजधानी शिलांग है जो बेहद ही खुबसूरत है और इस राज्य का सबसे बड़ा शहर है.

3. मेघालय पहेले असम राज्य का ही एक भाग था लेकिन सन 1972 को असम के खासी, गारो और जैन्तिया पर्वतीय क्षेत्रो को काट कर एक नया राज्य घोषित कर दिया गया जिसका नाम मेघालय रखा.

4. दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश मेघालय के मासिनराम और चेरापूंजी में ही होती है, इन दोनों क्षेत्र में साल के 12 महीनो में से 10 से 11 महीने बारिश होती है.

5. मेघालय का कुल क्षेत्रफल करीब 22, 720 वर्गकिलोमीटर है और उनकी जन संख्या करीब 35 लाख है.

 नोंगकर्म फेस्टिवल, मेघालय, Interesting facts about Meghalaya in Hindi
6. मेघालय में नोंगकर्म फेस्टिवल बहोत ही फैमस है जो हर नवम्बर के महीने में आयोजित किया जाता है. यह त्यौहार 5 दिन का होता है. यह त्यौहार मेघालय की "खासी जाती" द्वारा "फसल धन्यवाद" के रूप में मनाया जाता है. इस त्यौहार की शुरुआत बकरी की बलि देकर होती है. इस त्यौहार में खासी जाती के कुवारें लड़के और लड़कीयां साथ मिलकर नृत्य करते है जो बेहद ही मनोरंजक होता है.

wangala festival,मेघालय पूर्वोत्तर भारत का मिनी स्कॉटलैंड | Interesting facts about Meghalaya in Hindi,Amazing Information about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक्त तथ्य और जानकारी

7. मेघालय में एक और त्यौहार बड़े पैमाने में मनाया जाता है जिसका नाम है "वंगाला फेस्टिवल". यह त्यौहार गारो जाती के लोगो द्वारा भगवान सूर्यनाराय को धन्यवाद कहेने के लिए मनाया जाता है. यह त्यौहार "हर कटाई" के समय शरद ऋतू के अंत में मनाया जाता है. यह त्यौहार 2 दिन तक मनाया जाता है जिसका मुख्य आकर्षण 100 ड्रम या नगाड़े होते है.

8. मेघालय में मुख्यरूप से खासी, गारो और जयंतिया(पनार) जाती के लोग बसते है, इसके अलावा हजोग और तिवा जनजाति के लोग भी यहाँ रहेते है.

9. मेघालय में करीब 75 प्रतिसद लोग इसाई धर्म का पालन करते है.

मेघालय पूर्वोत्तर भारत का मिनी स्कॉटलैंड | Interesting facts about Meghalaya in Hindi

10. मेघालय अपनी वेश-भूषा और संस्कृति के लिए पुरे भारत में जाना जाता है. मेघालय की महिलाए पारम्परिक पहेनावे में ही रहने पसंद करती है, उनके इन पहेनावे को जेनसेन के रूप में जाना जाता है. इसके अलावा मेघालय की गारो जनजाति की महिलाए ब्लाउज के साथ लुंगी पहेनती है जिसको डाकमंडा के नाम से जाना जाता है. इसके आलावा खासी जनजाती के पुरुष अपनी कमर के चारो तरफ लम्बा कपडा और पगड़ी पहनते है.

11. मेघालय की करीब 80 प्रतिसद आबादी कृषि पर ही निर्भर है. मेघालय में कई तरह की कृषि होती है लेकिन चावल और मक्का यहाँ की मुख्य फसल है.

12. मेघालय का करीब 70 प्रतिसद हिस्सा जंगल से भरा हुआ है.

13. मेघालय में तिन वन्य जीवन अभ्यारण है जिनमे नोंगखाईलेम, सिजू अभ्यारण और बाघमारा अभ्यारण सामिल है.

14. मेघालय ओर्किड्स के लिए बहोत ही फैमस है. ओर्किड्स एक तरह का फुल है जिसकी करीब 325 से भी अधिक प्रजातिया मेघालय में पाई जाती है. ज्यादातर ओर्किड्स मासस्माई, माल्म्लुह और सोहरारिम के जंगल में पाई जाती है.

15. मेघालय में हर तरह के जिव जंतु और पक्षी पाए जाते है. यहाँ पर मूख्य रूप से लाल पांडा, हाथी, भालू, जंगली भेंस, हिरन, जंगली सूअर, दुर्लभ प्रजातियो के चमगादड़ भी पाए जाते है. इसके अलावा सरीसृप छिपकली, मगरमच्छ और कछुए भी लोगो के बिच आकर्षण बनाते है.

16. ग्रेट इंडियन होर्नबिल यानि की धनेश पक्षी यहाँ पर बड़े पैमाने में पाए जाते है. इसके अलावा हरे कबूतर और ब्लू जे भी यहाँ पर काफी संख्या में पाए जाते है.

17. मेघालय का चेरापूंजी अपने शानदार नजारों के लिए दुनियाभर में फैमस है. यहाँ पर कई तरह के प्राकृतिक नज़ारे और पहाडियो की ऊंचाई से गिरने वाले झरने देखने को मिलते है.

18. मेघालय के तुरा शहर में मोजूद नोकेरेक नेशनल पार्क पर्यटकों का मुख्य आकर्षण है.
mawlynnong,मेघालय पूर्वोत्तर भारत का मिनी स्कॉटलैंड | Interesting facts about Meghalaya in Hindi,Amazing Information about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक्त तथ्य और जानकारी

19. मेघालय में मोजूद मावलिननांग गाँव को सन 2003 में एसिया के सबसे स्वच्छ गाँव का अवार्ड मिला था. इस गाँव पर सभी लोग कृषि पर ही निर्भर है फिर भी यहाँ का साक्षरता दर 100% है.

20. मेघालय में मोजूद नोहकलिकाइ झरना पूरी दुनिया का चोथे नंबर का ऊंचाई से गिरने वाला झरना माना जाता है. यह करीब 335 मीटर की ऊंचाई से गिरता है.

21. मेघालय की राजधानी शिलांग भी मेघालय का एक बेहद ही खुबसूरत शहर है, इसको मिनी स्कॉटलैंड भी कहा जाता है. इसके चारो तरफ हरी भरी पहाड़िया मोजूद है जिसके कारण इसकी खूबसूरती और भी ज्यादा बढ़ जाती है.

22. मेघालय पूरी तरह से प्राकुतिक नजारों से भरा हुआ है, यहाँ के हर एक शहर और क्षेत्र में आपको झरने, पहाड़ी और वन्यजीव देखने को मिलते है.

Note:- We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn't look correct in this article about Meghalaya and if you have more information about Meghalaya History then help for the improvements this article.

दोस्तों, उम्मीद है आपको Interesting facts about Meghalaya in Hindi, Amazing Information about Meghalaya in Hindi - मेघालय के बारे में रोचाक तथ्य और जानकारी आर्टिकल पसंद आया होगा.

यह भी पढ़े:-

  1. भारत में बारिश में घुमने की 15 जगह, जहाँ आपका दिल झूम उठेगा
  2. होयाबस्यु, दुनिया का सबसे खतरनाक और रहस्यमई जंगल
  3. भारत की 6 एसी जगह जहाँ भारतीय नहीं जा सकते है
  4. क़तर देश के बारे में रोचक तथ्य
  5. नेपाल देश से जुड़े रोचक तथ्य