अगर धरती से इंसान चले जाए तो पृथ्वी का यह हाल होगा ?
क्या होगा पृथ्वी का अगर इंसान चले जाए? | Earth without Humans

क्या आपने कभी यह बात सोची है की पृथ्वी पर कोई एसी आफत आजाए जिसमे धरती पर से मानव की सारी नस्ल ही मिट जाए? अचानक से सारे इंसान गायब हो जाए मतलब इंसान का कोई वजूद ही ना बचे. अगर एसा होता है तो धरती पर क्या होगा? क्या धरती पर बिना इंसान के कोई और जिव बच पाएगा या धरती पर दुसरे जीवो की आबादी बढ़ेगी? क्या धरती पर हरियाली वापस आएगी या फिर बिलकुल चली जाएगी?



यह बात तो हमने पिछले आर्टिकल में ही बताई थी की पिछले 250 सालो में हम इन्सानों ने धरती को बर्बाद करके रख दिया है. अगर आपने इस आर्टिकल को नहीं पढ़ा है तो यहाँ से पढ़ सकते हो इंसानों ने यह क्या किया? इंसानों द्वारा भयंकर प्राकुतिक आपदा. हमने पृथ्वी को नुकसान पहोचाने में कोई भी कसर नहीं छोड़ी है. इसी लिए इसका भुक्तान भी हमको ही करना पड़ेगा. एसे में अगर सच में कोई कुदरती आफत से पूरी मानव जाती ख़त्म हो जाती है तो क्या होगा? यह बात तो इस आर्टिकल को पढने के बाद ही पता चलेगी की क्या होगा पृथ्वी का अगर इंसान चले गए? Earth without Humans. चलिए समजते है की बिना इन्सान के धरती का फायदा होता है या नुकसान.

क्या होगा पृथ्वी का अगर इंसान चले जाए? | Earth without Humans
क्या होगा पृथ्वी का अगर इंसान चले जाए? | Earth without Humans

अगर बात करे day 1 से तो पहेले ही दिन बिना इन्सान के धरती पर एक विनाश जैसा मंजर हो जाएगा. इन्सानों द्वारा बनाई गई हर चीज बेलगाम हो जाएगी. Transportation इस धरती पर पूरी तरह से थंभ जाएगा. इंसानों द्वारा होने वाले हर काम बंध हो जाएगे. इन्सानों के ना होने की वजह से धरती पर से बिजली धीरे-धीरे चली जाएगी और धरती पर अँधेरा होने लगेगा. हलाकि सोलर प्लेट की वजह से कुछ महीनो तक बिजली आती रहेगी पर कुछ महीनो बाद वो भी बंध हो जाएगे.

बिजली ना रहेने की वजह से पूरी दुनिया के सभी Cell Phone, TV, TV Tower, Radio बंध हो जाएगे. Internet सेवा बंध हो जाएगी. धरती पर से मानव निर्मित Radiation का सभी प्रकार से खात्मा हो जाएगा. इंसान ना होने की वजह से अंतरीक्ष में मोजूद सभी Satellite अंतरीक्ष में टकराकर निचे गिरती रहेगी. एक साल के अन्दर सभी सॅटॅलाइट धरती पर आ गिरेगी.

इन्सानों के ना होने के 1 महीने बाद दुनिया की सभी नदियो में साफ पानी बहेना शुरू हो जाएगा. Nature अपना काम करना शुरू कर देगा. धरती पर से Pollution का स्तर एक दम निचे आजाएगा. किसी भी प्रकार का Radiation न रहेने की वजह से 3 महीनो में ही कई सारे किट, सूक्ष्म जिव और पक्षिओ की संख्या में वृधि होगी. हर जगह पेड-पौधे उगने लगेगे. वन्यजीवन एक बार फिर से जिवंत हो उठेगा. पूरी धरती हरी-भरी और प्रदुसन मुक्त होने लगेगी.


1 साल के बाद शर्दी, गरमी और बारिश के मौसम में अंतर आ जाएगा. समुद्र और नदियो में जल जीवन फिर से बढ़ने लगेगा. मानव द्वारा बनाई गई हर चीजो पर कुदरत अपना असर दिखाना शुरू कर देगी. इमारतों का नाश होना शुरू हो जाएगा.

10 साल के बाद पूरी दुनिया में धरती हरे कलर की दिखने लगेगी. मानव द्वारा काट दिए गए जंगल एक बार फिर से हरे भरे हो जाएगे. संकट में पड़ी हर जीवो को प्रजातिया फिर से बढ़ने लगेगी. धरती के मौसम में बहोत बड़ा अंतर आ चूका होगा. नदिया, तालाब और सरोवर फिर से पानी से भर जाएगे. प्रदुसन ख़त्म हो जाने की वजह से रात में आसमान एक दम साफ नजर आएगा. गरमी में कमी आ जाएगी.

25 साल के बाद जितनी भी रोड-सड़क है वो सारे पौधों से ढँक जाएगे क्यूंकि उन पौधों को काटने वाला कोई नहीं होगा. धीरे धीरे सिटी हो या गाँव हो सभी जंगल में परिवर्तित हो जाएगा. जानवरों को एक बहोत भी बड़ा इलाका रहेने के लिए मिल जाएगा. वो लोग अपनी मर्जी से जितना चाहे भाग सकेगे.

50 साल के बाद धरती को पहेचान पाना मुश्किल होगा. हमारी धरती कीसी एलियन प्लानेट से कम नहीं लगेगी. धरती पर से मानव निर्मित ग्रीन हाउस गैस का लगभग खात्मा हो चूका होगा. प्लास्टिक बेग पूरी तारह से decompose हो चुकी होगी वही प्लास्टिक बोतल और एसी कई सारी चीजो को decompose होने में हजारो साल लगेगे. पूरी दुनिया में समुद्र का स्तर एक फीट तक बढ़ चूका होगा. पृथ्वी पर मानव द्वारा बनाए गए सारे डैम टूट जाएगे. जिसकी बदोलत कोई भी नदी और नाले सूखे नहीं रहेगे.

100 सालो के बाद धरती पर के सभी जंगल बेहद घने हो चुके होगे. वन्यजीवन में संतुलन बन चूका होगा. धरती पर के सभी मौसम पूरी तरह से समय सर होने लगेगे. मानव जाती के अंतिम दिनों के मुकाबले ठण्ड अब ज्यादा होने लगेगी. धरती पर इंसानों द्वारा बनाई गई कुछ चीजो को छोड़कर बाकि सारी चीजो का नामो निशान मिट चूका होगा. फिर भी कई सारी चीजे एसी भी होगी जिसे खत्म होने में 200 से 300 साल लगेगे.


300 साल के बाद मानव निर्मित सभी डैम और बिल्डिंग, एफिल टावर सब कुछ टूट कर जमीनभुत हो चुके होगे. कांक्रीट के जंगल की जगह अब हरे भरे जंगलो ने ले ली होगी. अलग-अलग चिडयाओ की प्रजाति वापस आएगी. इस तरह जानवरों की भी कई सारी नै प्रजातिया जन्म लेगी. हमारे जाने के बाद सिर्फ धरती पर के जिव को ही फायदा नहीं होगा बल्कि पानी में रहेने वाले जीवो को भी फायदा होगा.

500 सालो बाद धरती पर मोजूद कुछ बची कुची ईमारत की जगह भी जंगल आ चुके होगे. और हजार साल बाद एसा लगेगा की की धरती पर कभी इन्सान थे ही नहीं सिर्फ उनकी कुछ पत्थर की मुर्तिया देखने को मिलेगी वो भी ज्यादातर पौधों से घेर चुकी होगी.

अब अगर कुछ बचा होगा तो वो सिर्फ प्लास्टिक ही होगा जो आने वाले हजार साल में नस्ट हो जाएगा. nature से हमने जो कुछ भी छिना था वो सभी चीजे nature हमसे वापिस लेलेगा. धरती पर से इन्सान की नस्ल एसे गायब हो जाएगी मानो कभी इन्सान धरती पर थे ही नहीं. अगर कुछ हजारो-लाखो सालो बाद धरती पर इन्सान जन्म लेता भी है तो उनको पता भी नहीं चलेगा की इस धरती पर कभी इंसान थे. अब सवाल आता है क्या हमसे पहेले यानि की कई लाखो साल पहेले भी इन्सान धरती पर थे? हो सकता है ! जो भी हो पर एक बात तो पकी है की इन्सानों ने धरती को पूरी तरह से ख़राब कर के रख दिया है जो हमारे बिना वापिस से सुनदर और स्वच्छ हो जाएगी.



धरती पर से इन्सानों का पूरी तरह से खात्मा होना थोडा असम्भव है पर अगर एसा नहीं होता है तो इसकी वजह से आने वाले 500 सालो में धरती पर से वन्यजीवन सायद पूरी तरह से ख़त्म हो जाएगा. अगर हम यह बात समजे नहीं की धरती सिर्फ इंसानों के लिए ही नहीं बल्कि अन्य जीवो के लिए भी है तो आने वाले कुछ सालो हमें उनका नामो-निशान भी नहीं मिलेगा. आखिर इतनी तरक्की करके इन्सान क्या कर लेगा? हम सभी को हमारी इस धरती को साफ सुफरी रखनी चाहिए ताकि सभी जिव अपना जीवन अच्छे से गुजार सके.

आपको क्या होगा पृथ्वी का अगर इंसान चले जाए? | Earth without Humans आर्टिकल अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे और nature और वन्यजीवो के प्रति अपनी जवाबदारी को अवस्य पहेचाने और हो सके उतना nature को कम नुकशान पहोचाए ताकि पक्षी और सभी जिव अपना जीवन गुजार सके. आप यह आर्टिकल भी जरुर पढना की हमरि वजह से कितने पक्षी विलुप्त हो चुके है. दुनिया के कुछ विलुप्त पक्षी.


यह भी पढ़े:-
  1. क्या सच में धरती अंत के करीब जा रही है.
  2. क्या होगा अगर ओक्सीजन 5 सेकंड के लिए गायब हो जाए
  3. क्या होगा अगर सूरज अचानक से गायब हो जाए
  4. क्या होगा अगर धरती का सारा कचरा ज्वालामुखी में डाल दिया जाए
  5. क्या होगा अगर धरती की सारी बर्फ पिगल जाए
  6. क्या होगा अगर बारिश एक ही विशालकाय बूंद में गिरे
  7. क्या होगा अगर पृथ्वी के सारे पेड़ काट दिए जाए