क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup

क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup


क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup


दोस्तों, 30th May 2019 यानि की आज के दिन का भारत सहित पूरी दुनिया के लोग जहा क्रिकेट खेला जाता हे वो सभी देशवासी आज के दिन का इंतजार कर रहे होंगे. आज से क्रिकेट का महाकुम्भ यानी की विश्व कप शुरू होने जा रहा है. इस बार वर्ल्ड कप की मेजबानी इंग्लैंड कर रहा है. इस बार 10 टीमो के बीच में मुकाबला होने वाला है. यह तो हुई इस वर्ल्ड कप की बात.

क्या आपको पता है की हर चार साल में खेले जाने वाले वर्ल्ड कप की शुरआत कैसे और कब हुई थी? तब कितने ओवर का मैच था? कितनी टीमो ने हिस्सा लिया था? अब तक कितने वर्ल्ड कप खेले जा चुके है और कोंसी टीमो ने कितने वर्ल्ड कप अपने नाम किया है? यह सारी बाते आपको में इस आर्टिकल में देने वाला हु.

चलिए जानते हे History of Cricket World cup के आर्टिकल में कोनसे मुद्दे आने वाले है.

1.      क्रिकेट वर्ल्ड कप की शुरआत कब और कहा हुई थी?
2.      कितने ओवर का मैच था और कितनी टीमो ने हिस्सा लिया था?
3.      अब तक कितने वर्ल्ड कप खेलेजा चुके है?
4.      कोनसी टीमो ने वर्ल्ड कप जीता है?
5.      वर्ल्ड कप में सबसे सर्वाधिक रन कोनसी टीम ने बनाया है?
6.      सबसे सर्वाधिक रन कोनसे खिलाडी ने बनाया है?
7.      वर्ल्ड कप के फाइनल में आने वाली टीमो की सूचि.
8.      सबसे ज्यादा Man of the match & Series प्राप्त करने वाला खिलाडी

चलिए जानते हे क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? सभी मुद्दों के बारे में विस्तार से.

क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup

क्रिकेट वर्ल्ड कप की शुरआत कब और कहा हुई थी?
वैसे तो क्रिकेट में वर्ल्ड चैंपियनशिप की शुरुआत सन 1912 में ऑस्‍ट्रेलिया, इंग्‍लैंड और दक्षिण अफ्रीका के द्वारा की गई थी. लेकिन बाद में सन 1975 में इसे टेस्‍ट क्रिकेट खेलने वाले देशों के बीच एक प्रतियोगिता के रूप में लाया गया था. इस तरह क्रिकेट विश्‍व कप की शुरुआत सन 1975 में हुई थी इस वक्त भी इंग्लैंड ने ही मेजबानी की थी और आज भी इंग्लैंड ही मेजबानी कर रहा है.

भले ही क्रिकेट की शुरआत इंग्लैंड ने कि हे इसके बावजूद भी वो टीम आज तक एक भी विश्व कप जित नहीं पाई है.

कितने ओवर का मैच था और कितनी टीमो ने हिस्सा लिया था?
पहले वर्ल्ड कप में टेस्‍ट क्रिकेट खेलने वाले छह देशो ने भाग लिया था जिसमे इंग्‍लैंड, ऑस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड, वेस्‍टइंडीज, भारत और पाकिस्‍तान शामिल थे. इनके अलावा श्रीलंका और ईस्ट अफ्रीका ने भी इसमें भाग लिया.

उस वक्त सभी लोग सफ़ेद कपडे में ही वन डे मैच खेल ते थे, तब 60-60 ओवर का मेच हुआ करता था.


अब तक कितने वर्ल्ड कप खेलेजा चुके है?
हले वर्ल्ड कप से लेकर आज तक 11 विश्व कप हो चुके है. अब तक इसके 11 संस्करणों में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने सर्वाधिक 5 बार विश्व कप जीता है. इसके अलावा भारत और वेस्टइंडीज ने 2-2 बार और श्रीलंका और पाकिस्तान ने एक-एक बार खिताब अपने नाम किया है.

वर्ल्ड कप में सबसे सर्वाधिक रन कोनसी टीम ने बनाया है?
वर्ल्ड कप में एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले सबसे पहेला नाम ओस्ट्रेलिया का आता है लेकिन सबसे पहले वर्ल्ड कप में सर्वाधिक रन का रेकॉर्ड श्रीलंका ने बनाया था. श्रीलंका ने 1996 के वर्ल्ड कप में केन्या के सामने खेले गए मैच में 398 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था वो तब के दोर में वन डे इतिहास का सबसे सर्वाधिक स्कोर था.

श्रीलंका द्वारा बनाया गया रेकॉर्ड भारत ने 2007 के वर्ल्ड कप में बरमूडा के खिलाफ तोडा था. इस मैच में वीरेन्द्र सहेवाग की 114 रन की पारी की मदद से भारत ने 413 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया था जो वर्ल्ड कप में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे सर्वोत्तम स्कोर था.

इसके बाद भारत का यह रेकॉर्ड 2015 तक सिमित रहा लेकिन 2015 के वर्ल्ड कप में पहेली बार हिस्सा ले रही अफगानिस्‍तान की टीम के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 417 रन का स्कोर खड़ा किया. उम्मीद है इस बार यह रेकॉर्ड भी टूट जायेगा.

क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup

सबसे सर्वाधिक रन कोनसे खिलाडी ने बनाया है?
अब तक 11 वर्ल्ड कप खेले जा चुके है और कई सारे रेकॉर्ड भी बन चुके हे लेकिन एक एसा रेकॉर्ड है जो हमारे भारत का महान बल्लेबाज सचिन तेन्दुलकर के नाम पर है और सायद ही कोई आने वाले दिनों में इस रेकॉर्ड को तोड़ पाए.

विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले सचिन तेंदुलकर का नाम सबसे उपर है. सचिन ही एक लोटे एसे बाले बाज है जिन्होंने 2000 से अधिक रन बनाये है और कोई भी खिलड़ी अब तक 2000 रन के आंकड़े को छू भी नहीं सका है. सचिन तेंदुलकर ने वर्ल्ड कप के 45 मैच की 44 पारिओ में 56.95 की औसत से 2278 रन बनाया है.

सचिन तेंदुलकर के बाद दुसरे नंबर पर हे रिकी पोंटिंग जिन्होंने ने 46 मैच में 1743 रन बनाया है. इसके बाद कुमार संगकारा 1532, ब्रायन लारा 1225, और एबी डिविलियर्स 1207 रन बना कर पांचवे स्थान पर है. इससे पता चलता है की आने वाले समय में सायद ही कोई भी खिलाडी सचिन तेंदुलकर का याह रेकॉर्ड तोड़ पायेगा.

वर्ल्ड कप के फाइनल में आने वाली टीमो की सूचि
चलिए अब एक नजर डालते है वर्ल्ड कप में फ़ाइनल में आने वाली टीमो के ऊपर.

1975, में वेस्ट इंडीज बनाम ऑस्ट्रेलिया, लॉर्ड्स, इंग्लैंड, विजेता:- वेस्ट इंडीज
1979, में वेस्ट इंडीज बनाम इंग्लैंड, लॉर्ड्स, इंग्लैंड, विजेता:- वेस्ट इंडीज
1983, में भारत बनाम वेस्ट इंडीज, लॉर्ड्स, इंग्लैंड, विजेता:- भारत
19८७, में ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड, इडनगार्डन, भारत, विजेता:- ऑस्ट्रेलिया
1992 में पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड, मेलबोर्न, ऑस्ट्रेलिया, विजेता:- पाकिस्तान
1996 में ऑस्ट्रेलिया बनाम श्रीलंका, गद्दाफी, पाकिस्तान, विजेता:- श्रीलंका
1999 में पाकिस्तान बनाम ऑस्ट्रेलिया, लॉर्ड्स, इंग्लैंड, विजेता:- ऑस्ट्रेलिया
2003 में भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, जोहनिसबर्ग, अफ्रिका, विजेता:- ऑस्ट्रेलिया
2007 में श्रीलंका बनाम ऑस्ट्रेलिया, बारबाडोस, वेस्ट इंडीज, विजेता:- ऑस्ट्रेलिया
2011 में भारत बनाम श्रीलंका, वानखेड़े, मुंबई, विजेता:- भारत
2015 में ऑस्ट्रेलिया बनाम न्यूजीलेंड, मेलबोर्न, ऑस्ट्रेलिया, विजेता:- ऑस्ट्रेलिया

क्रिकेट विश्वकप की शुरआत कब हुई थी? कितने ओवर का मेच था? | History of Cricket World cup

सबसे ज्यादा Man of the match & Series प्राप्त करने वाला खिलाडी
अगर बात करे की वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा बार किस खिलाडी को मेन ऑफ़ थे मैच का अवोर्ड मिला है तो सबसे पहेला नाम भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेन्दुलकर का आता है. उन्होंने 6 वर्ल्ड कप में 9 बार मेन ऑफ़ थे मैच का ख़िताब अपने नाम किया है. ऑस्ट्रेलिया का ग्लेन मेकग्राथ दुसरे नंबर पर है जिसने 6 बार यह ख़िताब जीता है.

वर्ल्ड कप में Player of the Tournament का ख़िताब देनी की शुरआत 1992 के वर्ल्ड कप से हुई थी. अब तक किसी भी खिलाडी को दो बार Player of the Tournament का ख़िताब नहीं मिला है. अब तक 7 खिलादी को यह किताब मिला हे जिसमे सन 2003 में भारत के सचिन तेंदुलकर और सन 2011 में युवराज सिंह को यह ख़िताब मिला था.

Read Also:-



No comments:

Powered by Blogger.