Facts about Hubble telescope in Hindi | हबल दूरबीन क्यां है? जाने रोचक तथ्य

Hubble telescope in Hindi – हबल दूरबीन के बारे में रोचक तथ्य

क्या आपने कभी यह सोचा है की पृथ्वी से अंतरिक्ष में मोजूद Stars(तारे), Planets(ग्रहों) और कई सारे खगोलीय पिंडो के बारे में खगोलशास्त्रि कैसे पता लगा लेते है? एसा कौन सा दूरबीन है उनके पास जो यहाँ से अंतरिक्ष में मौजूद सितारों को दिखाता है? आखिर इस Telescope को Hubble telescope in Hindi ही नाम क्यों दिया गया? आखिर यह हबल दूरबीन क्यां है और काम कैसे करता है? ऐसे कई सारे सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिलने वाला है.
हबल दूरबीन क्यां है? जाने रोचक तथ्य | Facts about Hubble telescope in Hindi
Hubble telescope in Hindi
हबल दूरबीन के बारे में रोचक तथ्य – Facts about Hubble telescope in Hindi
1. हबल दूरबीन क्यां है? – Hubble telescope in Hindi
यह एक तरह का खगोलीय दूरबीन है जिसको ब्रह्मांड के बारे में ज्यादा जानकारियां प्राप्त करने के लिए बनाया गया था. इसको 24 अप्रैल 1990 में अंतरिक्ष में पृथ्वी से करीब 568 किलोमीटर की दुरी पर तैनात किया गया था. इस दूरबीन को NASA ने यूरोपियन स्पेस एजेंसी की सहायता से तैयार किया था. हबल दूरबीन अब तक गैलेक्सी, तारे और अन्य खगोलीय पिंडो की 7 लाख से भी ज्यादा तस्वीर भेज चूका है. इस तरह हबल दूरबीन की वजह से हमे ब्रह्मांड को जानने में सहायता मिली है.
2. हबल दूरबीन 95.47 मिनट में पृथ्वी का एक चक्कर पूरा करता है और हर रोज़ करीब 15 GB का डाटा भेजता है.
3. हबल दूरबीन का नाम हबल दूरबीन क्यों रखा गया?
हबल दूरबीन का नाम अमेरिका के खलोग वैज्ञानिक “एडविन हबल” से लिया गया था. ब्रह्मांड में उनके द्वारा की गई खोज की मदद से उनको सन्मान के रूप में यह नाम दिया गया था. उन्होंने ने ही सन 1920 में पूरी दुनिया को बताया था की हमारी आकाशगंगा के बहार भी अनगिनत आकाशगंगाए मोजूद है.
4. हबल telescope 13.2 मीटर लम्बा है वही इसका वजन 10,886 किलोग्राम है.
5. हबल दूरबीन को लौंच करने के लिए उस वक्त 161 करोड़ डॉलर रुपए का खर्चा हुआ था.
6. Hubble telescope in Hindi में 2.4 मीटर का लेंस है.
7. ब्रह्मांड की आयु हबल दूरबीन की खोज से पहेले 10 से 20 अरब होने का अनुमान लगाया जाता था लेकिन हबल दूरबीन की मदद से ब्रह्मांड की आयु 13.7 अरब है यह पता चला.
8. हबल दूरबीन को इस तरह से तैयार किया गया है की यदि इसमें कोई खराबी आए तो अंतरिक्ष में जाकर इसको ठीक किया जा सके. एसा ही सन 1993 में हुआ था.
9. हबल दूरबीन द्वारा देखि गई सबसे निकट की चीज हमारा चाँद है.
10. हबल दूरबीन के कारन ही हमको पता चला की हर बड़ी आकाशगंगा के केंद्र में एक ब्लैक होल है.
11. हबल दूरबीन भले ही पृथ्वी की परिक्रमा करता है पर फिर भी यह पृथ्वी की तस्वीर नहीं ले सकता है क्यूंकि वो बहोत ही तेजी से घूमता है.
12. हबल दूरबीन द्वारा खिंची गई सबसे पहेली तस्वीर Cluster Star की थी जो हबल से 1300 प्रकाश वर्ष की दुरी पर था पर वो तस्वीर Black and white थी.
13. हबल टेलिस्कोप को रंगीन तस्वीर भेजने में बहोत ज्यादा समय नहीं लगा था. उसने सन 1991 में जुपिटर की साफ तस्वीर भेजी थी.
14. हबल टेलिस्कोप की वजह से ही सन 2006 में प्लूटो को एक बौना ग्रह घोषित किया गया था.

15. हबल दूरबीन की मदद से खगोल वैज्ञनिको ने अब तक 13 हजार से भी ज्यादा जर्नल आर्टिकल Publish किए है.

अंतरिक्ष के बारे में और भी जाने:-

Add a Comment

Your email address will not be published.