21 Amazing facts about Moon in Hindi | पृथ्वी के उपग्रह चाँद(चंद्रमा) के बारे में 21 रोचक तथ्य
About Moon in Hindi | चाँद की उत्पति कैसे हुई थी? चंद्रमा की पूरी जानकारी एवं रोचक तथ्य

चाँद कई हजार सालो से बहोत रहस्यों से भरा हुआ है और वैज्ञानिक हमेशा चाँद के इन रहस्यों पर से पर्दा उठाने की कोशिश करते रहेते है. चाँद हमारी पृथ्वी का उपग्रह है यह बात तो हम सभी को पता है.



जब भी चंद्र की बात आती है तो हम उनको पौराणिक कथा से जुड़ देते है. जब भी कोई सवाल करता है की चाँद कैसे उत्पन हुआ था तो आपको ज्यादातर जवाब पौराणिक कथा के अनुसार ही मिलेगा. लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले है की चाँद की उत्पति कैसे हुई? कैसे एक पिंड को पृथ्वी के उपग्रह के रूप में जोड़ा गया? क्या यह पहेले से ही धरती का हिस्सा था या कही बहार से आया था? यह सभी जवाब के साथ-साथ आपको चंद्रमा की पूरी जानकारी एवं रोचक तथ्य के बारे में पता चलने वाला है तो चलिए शुरू करते है.

चंद्रमा की उत्पति कैसे हुई थी?
हमारे चाँद के वजूद की शुरुआत आज से करीब 4.5 अरब साल पहेले हुई थी. शुरू में जब हमारा सौरमंडल बन रहा था उस वक्ती यह आज के जैसा नहीं था. फिर एक बड़े विस्फोट के कारन हमारे सूर्य ने जन्म लिया. सूरज के जन्म के कारन आपस में जो कण मोजूद थे वो आपस में मिलने लगे और इस तरह से हमारे सौरमंडल के सभी ग्रह बारी-बारी अस्तित्व में आए.

इसी तरह हमारी पृथ्वी का भी निर्माण हुआ और इसके बाद और कई सारे पिंड भी अंतरिक्ष में तैर रहे थे जो किसी न किसी ज्यादा गुरुत्वाकर्षण बल वाले ग्रह के साथ टकराते थे. इसी तरह एक बड़ा पिंड पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के कारन पृथ्वी के करीब से गुजरा और पृथ्वी की परिक्रमा करने लगा जिसे हम चाँद कहते है.

कुछा अध्ययन से वैज्ञानिको को पता चला की जब धरती का जन्म हुआ था तब धरती मंगल ग्रह जितने बड़े पिंड के साथ टकराई थी. और इस टकराव और घर्षण की वजह से चाँद का जन्म हुआ. धरती से टकराने वाले इस पिंड को वैज्ञानिको ने "थिया" नाम दिया. थिया के धरती के साथ टकराने से भारी मात्रा में अंतरिक्ष में उर्जा फैल गई. इस घटना के बाद हमारे चाँद को बनने में करीब 1 साल का वक्त लगा. इसकी पपड़ी की बनावट बिलकुल धरती जैसी ही थी क्यूंकि यह धरती से ही उत्पन्न हुआ था. चाँद की बनने की इस प्रोसेस को वैज्ञानिको ने Giant Impact Hypothesis नाम दिया.

About Moon in Hindi | चाँद की उत्पति कैसे हुई थी? चंद्रमा की पूरी जानकारी एवं रोचक तथ्य

Amazing facts about Moon in Hindi

1. अब तक सिर्फ 12 लोग ही चाँद(Moon) पर जा सके है. सन 1972 के बाद आज तक कोई भी मानव रहित अंतरिक्ष यान चाँद पर नही पहोंचा है.

2. चंद्र धरती के आकार का सिर्फ 27% ही है.

3. अगर चंद्रमा गायब होजाता है तो पृथ्वी पर एक दिन में 24 घन्टे की बजाए सिर्फ 6 घन्टे ही रहे जाएंगे.


4. क्या आपको पता है की चाँद पर पानी की खोज सबसे पहले भारत ने की थी. इसके पहले बहोत लोग ऐसा मानते थे की चन्द्रमा पर पानी हो सकता है लेकिन किसी ने भी इसकी खोज नही की थी.

5. हमारे सौरमंडल में करीब 181 उपग्रह है उसमें चाँद पांचवे नंबर का सबसे बड़ा पिंड है.

6. आपको जानकर हैरानी होगी कि निल आर्मस्ट्रांग और उनके साथ गए बज एल्ड्रिन ने अपना पहला कदम जब चाँद पर रखा तब उसके पैरों के जो निशान चाँद पर बन गए थे वो आज भी मौजूद है और लाखों सालों तक भी रहेगा क्योंकि चाँद पर हवा मौजूद नही है जो इस निशान को मिटा सके.

7. क्या आपको पता है की पृथ्वी से चाँद का सिर्फ 59 प्रतिसद हिस्सा ही देखने को मिलता है.

8. क्या आपको पता है की चन्द्र का वजन पृथ्वी से 80 गुना कम है. और हमारी पृथ्वी में 9 चन्द्र समा सकते है.

9. चन्द्र का गुरुत्वाकर्षण ना के बराबर है इसी वजह से यहाँ पर आप दोड नहीं सकते है एसा करने पर आप तैरने लगोगे. चाँद पर पृथ्वी से 6 गुना कम ग्रेविटी मोजूद है. इसी वजह से वहा पर हम आसानी से उछल कूद कर सकते है.

10. चाँद का वजन लगभग 81 अरब टन है.

11. हर साल चन्द्र पृथ्वी से करीब 4 सेंटीमीटर दूर जा रहा है, इस गणित के हिशाब से अब से 50 अरब साल बाद चाँद धरती का चक्कर 47 दिन में पूरा करेगा जो अब 27.3 दिन में कर रहा है. लेकिन एसा होना लगभग नामुमकिन है क्यूंकि 5 अरब साल बाद सूर्य के साथ हमारी पृथ्वी भी नस्ट हो जाएगी.

12. आपको जानकर हेरानी होगी की सन 1950 में अमेरिका ने परमाणु हथियार से चाँद को नस्ट करना चाहा था ताकि वो दुनिया को अपनी पॉवर दिखा सके.

13. अगर क्षेत्रफल की बात करे तो चाँद का क्षेत्रफल अफ्रीका के बराबर है.

14. वैसे तो चाँद ठंडा ही है लेकिन इसका रौशनी वाला हिस्सा करीब 180 सेल्सियस तक पहोंच जाता है और बाकि का हिस्सा -153 सेल्सियस तक होता है.

15. चंद्रमा पर हमेशा आसमान काला ही नजर आता है.

16. चाँद पर सबसे पहेले जाने वैज्ञानिक नील आर्मस्ट्रांग है जो सन 1969 में चाँद पर पहोचे थे वही सबसे आखिर में जाने वाले वैज्ञानिक का नाम है Gene Cernan जो सन 1972 में गए थे.

17. नासा चन्द्रमा पर एक स्पेस स्टेशन बनाना चाहते है इसी वजह से वो सन 2019 के आखिर तक फिर से वैज्ञनिको को चन्द्रमा पर भेज सकते है.

18. चन्द्रमा के गुरुत्वाकर्षण के ही कारन समुद्र में ज्वार और भाट आता रहेता है.

19. रोकेट से चन्द्रमा पर जाने की कोशिश की जाए तो सिर्फ 13 घंटे ही लगेंगे.

20. चन्द्रमा के पास खुद का प्रकाश नहीं है इसी लिए अगर सूरज ना होता तो हम कभी भी चाँद को देख नहीं सकते थे क्यूंकि सूरज के प्रकाश के कारन ही चंद्रमा का प्रकाश दीखता है.


21. चाँद पृथ्वी से दिखने पर तो गोल दीखता है पर असल में यह अंडे के आकार का है.

आपको About Moon in Hindi जानकारी अच्छी लगी हो तो इसको शेयर जरुर करना.

यह भी पढ़े:
  1. Scientific Facts जिस पर आपको यकीन नहीं होगा पर सच है
  2. Sun in Hindi | सूर्य के बारे में यह बात आप नहीं जानते होंगे
  3. Venus Planet (शुक्र ग्रह) के बारे में 15 रोचक तथ्य | 15 Facts about planet Venus in Hindi 
  4. What is the most expensive substance of the universe? | ब्रह्माण्ड का सबसे महंगा पदार्थ क्या हे ?
  5. कितना बड़ा है हमारा ब्रह्मांड | How Big is the Universe
  6. क्या सच में धरती अंत के करीब जा रही हे? Human Overpopulation: Still an Issue of Concern?
  7. क्या होगा अगर सूरज अचानक से गायब हो जाये?What will Happen if the Sun Disappeared
  8. ध्रुव तारे के बारे में पूरी जानकारी | Facts about North Star in Hindi
  9. बुध ग्रह का कडवा सच | Facts about planet Mercury in hindi